कौथिग मेले का 3 नवंम्बर से 5 नवंम्बर तक होगा आयोजन ।

0
Spread the love

देहरादून 29 अक्टूबर 2023। गढ़वाल भ्रातृ मण्डल संस्था क्लेमेन्ट टाउन द्वारा आयोजित 3 दिवसीय गढ़ कौथिग मेले का शुभारंभ तीन नवंम्बर को पीपलेश्वर महादेव मंदिर प्रांगण बेल रोड़,क्लेमेन्ट टाउन में होगा। मेले का आयोजन 3 नवंम्बर से 5 नवंम्बर तक किया जायेगा।

उत्तरांचल प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान संस्था के अध्यक्ष सुन्दर लाल सेमवाल व महासचिव जयपाल सिंह रावत ने जानकारी देते हुऐ बताया कि,इस बार गढ़वाल भ्रातृ मण्डल संस्था 21 वें गढ़ कैथिग मेले का आयोजन कर रही है। इससे पहले वर्ष 2020 व 2021 में कोरोना महामारी के कारण गढ़ कौथिक मेले का आयोजन नहीं हो पाया था।

यह भी पढ़ें -  उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा में 58 प्रतिशत हुआ मतदान, कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने दिल्ली के सभी मतदाताओं का जताया आभार।मंत्री बोले - 04 जून को देश में एक नया इतिहास बनने जा रहा है।

उन्होंने कहा कि, इस मेले का मुख्य उद्देश्य राज्य स्थापना की 23वीं वर्षगांठ को हर्षोउल्लास के साथ मनाने के साथ साथ उत्तराखंड के संस्कार,संस्कृति,एवं रीति रिवाजो का प्रचार प्रसार व संरक्षण करना है।

वही गढ कैथिग मेला के मेलाधिकारी बादर सिंह रावत का कहना है कि इस बार के मेले में स्थानीय उत्पादों के विभिन्न स्टॉल,गढ़भोज,कछमोली भात,विभिन्न प्रकार के झूला, चर्खी,तम्बोला गेम,स्थानीय बच्चों व महिलाओं की प्रस्तुतियां,संस्कृति विभाग की टीमों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम,गढ़वाली हास्य कलाकार संदीप छिलबट की प्रस्तुती,संस्था के सभी बरिष्ठ सदस्यों का सम्मान,नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ चिराग बहुगुणा, मनोरोग चिकित्सक डॉ पवन शर्मा व सीएमआई अस्पताल और बलूनी अस्पताल द्वारा निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जायेगा। इसके साथ ही पहली बार लक्की ड्रा में 21 आर्कषक इनामों को भी सामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें -  कांग्रेसजनों ने राजीव गांधी को अर्पित किए श्रद्धा सुमन।राजीव भवन में प्रतिमा पर किए गए पुष्प अर्पित।

गैरतलब है कि गढ़वाल भ्रातृ मण्डल संस्था की स्थापना 14 जनवरी 1976 को हुई थी। संस्था का मुख्य उद्देश्य समाज के लिए सेवा,सद्भाव,सहयोग व संस्कार देकर समाज का कल्याण करना था। कालांतर में लगातार पहाड़ों से पलायन के कारण उत्तराखंड की संस्कृति व विरासतों के संरक्षण के लिए संस्था प्रयासरत रही जो निरंतर जारी है।

यह भी पढ़ें -  भैरव सेना ने सम्मेलन कर धूमधाम से मनाया पांचवा स्थापना दिवस।

प्रेस वार्ता के दौरान संस्था के अध्यक्ष सुन्दर लाल सेमवाल,महासचिव जयपाल सिंह रावत,मेलाधिकारी सु.मेजर बादर सिंह रावत,पार्षद राजेश परमार, पूर्व अध्यक्ष रधुनंदन सिंह रावत,उपाध्यक्ष आर.पी चमोली,सचिव दीपक नेगी,सचिव उमराव सिंह गुसाई,कोषाध्यक्ष बी.पी. बर्थवाल,सह-मेलाधिकारी अशोक सुन्दरियाल,सह कोषाध्यक्ष जितेन्द्र खंतवाल,सह सांस्कतिक सचिव रंजन नौटियाल,संगठन मंत्री बडोनी,डी.पी. बडोनी, विश्वभास्कर मैन्दौला, जन सम्पर्क अधिकारी सुबोध नौटियाल,कैप्टेन महेन्द्र सिंह बिष्ट,लक्ष्मण सिंह रावत, लेखा परीक्षक वाचस्पति विडालिया,प्रेस सचिव भानु प्रकाश नेगी समेत कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page