सैनिक पुत्र धामी ने बढ़ाया सैनिकों का सम्मान : रावत।

0
Spread the love

शैलेन्द्र कुमार पाण्डेय।8210438343,9772609900
चंपावत 26 मई 2022। पूर्व सैनिकों की बैठक मे उत्तर प्रदेश सैनिक कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष कर्नल राजीव रावत ने
उप चुनाव मे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की ऐतिहासिक जीत में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए पूर्व सैनिकों का आह्वान किया ।

बैठक में निर्णय लिया गया कि मुख्यमंत्री धामी के नेतृत्व में जिस प्रकार सैनिकों के कल्याण के लिए विशेष कार्य किए जा रहे हैं इसके लिए सभी पूर्व सैनिक धन्यवाद के रूप में भाजपा के पक्ष में मतदान के माध्यम से धन्यवाद देंगे।

कर्नल राजीव रावत ने कहा कि यह हम सब का सौभाग्य है कि उत्तराखंड राज्य का मुख्यमंत्री भी सैनिक पुत्र है और उन्होंने सैनिकों एवं पूर्व सैनिकों परिवारों व उनके हितों के लिए कार्य किया है । हम सबका सौभाग्य है कि हम एक मुख्यमंत्री को वोट दे रहे हैं। हमने जो मांगे उनके सामने रखी हुई हैं, सीएम उन्हें लेकर गंभीर है।

यह भी पढ़ें -  हेवल्स इंडिया के उत्पादों की रेंज ने लोगों को किया आकर्षित ।

उन्होंने कहा हमें फक्र महसूस होता है जब मुख्यमंत्री अपने सरकारी और गैर सरकारी कार्यक्रमों में यह कहते हुए दिखते हैं कि मैं एक भूतपूर्व सैनिक का पुत्र हूं। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से उत्तराखंड में सैन्य धाम की हमारी मांग थी उसी के अनुरूप सैन्य बन रहा है ।

पूर्व सैनिकों ने कहा कि हम सभी पुष्कर सिंह धामी की प्रचंड जीत के लिए मोर्चे पर डट गए हैं और यह जीत सैनिकों की तरफ से उनको समर्पित है।

उन्होंने कहा कि राज्य में पिछले साल नवंबर में बीजेपी सरकार ने देहरादून में शहीदों की याद में 'सैन्य धाम' बनाने की घोषणा की थी। इसके लिए भाजपा परिवार ने प्रदेश भर में 1,734 के घरों से मिट्ठी लाने के लिए 'शहीद सम्मान यात्रा' का आयोजन भी किया गया । इस 'सैन्य धाम' की आधारशिला पिछले साल 15 दिसंबर को खुद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रखी थी और उन्होंने यह भी घोषणा की थी कि इस स्मारक का नाम दिवंगत जनरल बिपिन रावत के नाम पर होगा। जो सैनिकों के सम्मान के लिए सदेव समर्पित रहेगा। 




 कर्नल रावत ने कहा कि उत्तराखंड राज्य अंतरराष्ट्रीय सीमाओं से जुड़ा हुआ राज्य है। उन्होंने कहा कि आज सीमा क्षेत्रों में बड़ी संख्‍या में सड़कें और पुल बनाए गए हैं जिनसे सीमा चौकियों तक आने-जाने की सुविधा हो गई है। 

उन्होंने कहा कि सेना के साथ वर्तमान में केंद्र सरकार पूरी तरह से एकमत होकर सैनिकों पूर्व सैनिकों एवं उनके परिजनों के हितों के लिए कार्य कर रही हैं। इसका ही परिणाम है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आतंकवाद से निपटने की खुली छूट सेना को दी गई है।

यह भी पढ़ें -  इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड की ओर से डेयरडेविल महिला बाइकर्स द्वारा बाइक रैली का किया गया आयोजन।

   बैठक में पूर्व सैनिकों द्वारा कर्नल राजीव रावत सहित उपस्थित सभी सेवानिवृत्त अधिकारियों का सभी पूर्व सैनिकों द्वारा स्वागत किया गया ।

इस अवसर पर स्क्वाडर्न लीडर
एमसी शर्मा, कैप्टन भैरव दत्त, लेफ्टिनेंट केशव दत्त उपरेती, सूबेदार संतोष सिंह देव, नायक कुंदन चीलवाल सहित बड़ी संख्या में पूर्व सैनिक मौजूद रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page