प्रेमी-प्रेमिका के बीच सांप की साजिश,प्रेमिका ने सांप से डसवा के कर डाली अपने प्रेमी की हत्या

0
Spread the love

UTTRAKHAND/ NAINITAL, HALDWANI

14 जुलाई को व्यवसायी अंकित की हत्या का नैनीताल पुलिस ने खुलासा कर दिया है, अंकित के हत्या के पीछे जो साजिश रची गई है यदि आप जानेंगे तो यकीनन आपकी आंखें खुली की खुली रह जाएंगी, अंकित की मौत को पहले प्राकृतिक तौर पर भी मौत माना जा रहा था लेकिन पुलिस ने जो खुलासा किया कुछ चौका देने वाला है, अंकित की हत्या सांप से डसवा कर की गई और इसकी रची उसी की गर्लफ्रैंड माही ने….

वजह से उसने अंकित को रास्ते से हटाने की साजिश रची। इस साजिश में उसने एक सपेरे, एक हमबिस्तर दोस्त और नौकर-नौकरानी को शामिल किया, सपेरा तो पुलिस की गिरफ्त में आ गया, लेकिन माही समेत अन्य आरोपी देश छोड़ कर फरार हो गए। हल्द्वानी रामबाग कालोनी रामपुर रोड निवासी अंकित चौहान की बीते शनिवार की सुबह तीनपानी रेलवे क्रासिंग के पास अपनी ही कार की पिछली सीट पर लाश मिली थी। व्यवसायी अंकित की मौत के पीछे पहले कार की एसी से निकलने वाली कार्बन मोनो ऑक्साइड गैस को वजह माना जा रहा था, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अंकित के दोनों पैरों पर सांप के डसने की बात सामने आई तो कहानी उलट गई….

यह भी पढ़ें -  डीएम की व्हाट्सएप आईडी हैक, श्रीलंका का निकला हैकर,हैकरो के हौसले बुलंद


हत्या की बात तब और पुख्ता हो गई, जब पुलिस ने तीनपानी में लगे सीसीटीवी में अंकित की कार के पास एक और कार को खड़ा देखा। एसएसपी पंकज भट्ट ने बताया कि अंकित के मोबाइल की कॉल डिटेल खंगाली गई तो बरेली रोड गोरापड़ाव में रहने वाली माही का नाम सामने आया, माही की कॉल डिटेल से भोजीपुरा बरेली के रहने वाले सपेरे रमेश नाथ और हल्दूचौड़ के रहने वाले दीप कांडपाल का नंबर सामने आया। सपेरे का नाम सामने आते ही हत्या की तस्वीर साफ होने लगी। तलाश में जुटी पुलिस ने सपेरे रमेश नाथ को गिरफ्तार किया तो सारा मामला खुल गया। उसने बताया कि अंकित की हत्या माही के घर में की गई, जिसमें माही के साथ खुद सपेरा, माही का कथित ब्वॉयफ्रेंड दीप कांडपाल, नौकर राम अवतार और रामअवतार की पत्नी शामिल थी। सपेरे के अलावा अन्य चारों देश छोड़ कर फरार हो चुके हैं।

यह भी पढ़ें -  टिहरी लोक सभा क्षेत्र के लिए बनाए गए महाराणा स्पोर्ट्स स्टेडियम स्थित मतगणना स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे कांग्रेस नेता।

सपेरे के मुताबिक सभी नेपाल में छिपे हैं। घटना में सपेरे रमेश को शामिल करने के लिए माही ने पहले उसे गुरू बनाया और फिर नजदीकी बढ़ाकर उसे अपने घर ले आई, कत्ल को मुकम्मल अंजाम तक पहुंचाने के लिए 10 हजार रुपये भी दिए, पुलिस ने न सिर्फ सपेरे को गिरफ्तार किया बल्कि उसका मोबाइल और कत्ल के लिए दिए गए 10 हजार रुपये भी बरामद कर लिए हैं। घटना को अंजाम देने से पहले माही उसके साथ दो बार हमबिस्तर हुई और हत्या में शामिल होने के लिए 10 हजार रुपये भी दिए। सपेरे रमेश ने कोबरा से अंकित के एक पैर में डसवाया, लेकिन वह जिंदा न रह जाए तो दूसरे पैर में भी ठीक उसी स्थान पर डसवाया गया।

यह भी पढ़ें -  महंगाई से त्रस्त उपभोक्ताओं को भाजपा सरकार देने लगी झटका।

अंकित की हत्या का प्लान 8 जुलाई को उसके जन्मदिन के दिन था लेकिन उस दिन जहरीला सांप ना होने की वजह से प्लान चेंज किया और हत्या का दिन 14 जुलाई चुना गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page