श्याम मेटैलिक्‍स ने सेल टाइगर टीएमटी री-बार्स के लॉन्च के साथ अपनी राष्ट्रव्यापी उपस्थिति को मजबूत किया।

0
Spread the love

देहरादून-20 जुलाई 2023। भारत के अग्रणी एकीकृत धातु उत्पादक, श्याम मेटैलिक्‍स ने अपने प्रीमियम सेल टाइगर टीएमटी री-बार्स को लॉन्च किया है। यह लॉन्‍च कंपनी के राष्ट्रीय विस्तार में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है।

कंपनी भारत में फेरोअलॉय के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक है, पेलेट क्षमता में अग्रणी है, और स्पंज आयरन क्षमता के मामले में चौथी सबसे बड़ी कंपनी है।

मैक्स एआर वैल्यू की विशेषता वाला अत्याधुनिक सेल टाइगर टीएमटी री-बार, अपनी असाधारण सीमेंट बॉन्डिंग क्षमताओं के साथ कंस्‍ट्रक्‍शन इंडस्‍ट्री में क्रांति लाने के लिए तैयार है। 5.5/6 mm से 32 mm तक के आकार में उपलब्ध, यह री-बार दोष-मुक्त कार्य, चिकनी सतह स्थितियों और कम तापीय चालकता सुनिश्चित करते हैं, इसलिए येवे आवासीय, वाणिज्यिक और औद्योगिक परियोजनाओं के लिए पसंदीदा विकल्‍प हैं। बारीकियों पर सावधानीपूर्वक ध्यान देकर तैयार किया गया, सेल टाइगर टीएमटी री-बार्स असाधारण ताकत, टिकाउपन और विश्वसनीयता दर्शाते हैं। बिल्डरों और निर्माण पेशेवरों की अलग-अलग आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया, सेल टाइगर टीएमटी बार अनूठा प्रदर्शन प्रदान करता है, जिससे मजबूत और स्थायी संरचनाओं का निर्माण सुनिश्चित होता है।

यह भी पढ़ें -  उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा में 58 प्रतिशत हुआ मतदान, कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने दिल्ली के सभी मतदाताओं का जताया आभार।मंत्री बोले - 04 जून को देश में एक नया इतिहास बनने जा रहा है।

अत्याधुनिक तकनीकों को शामिल कर, इस बेहतरीन टीएमटी री-बार्स को बेहतर ताकत, टिकाउपन और डिजाइन में लचीलापन प्रदान करने के लिए तैयार किया गया है। रेनफोर्स्‍ड सीमेंट कंक्रीट (आरसीसी) आधुनिक निर्माण परियोजनाओं का एक महत्वपूर्ण घटक है और यह सेल टाइगर रि-बार्स इसका शानदार पूरक है। इन टीएमटी बार्स का इमारतों, औद्योगिक शेड्स, ट्रांसमिशन टावर्स, बांधों, सड़कों और अन्य विभिन्न निर्माण परियोजनाओं में काफी इस्‍तेमाल किया जाता है। इसके अलावा, वायर रॉड्स और बीम, चैनल और एंगल्‍स जैसे संरचनात्मक सामानों के साथ, श्याम मेटैलिक्‍स उच्च गुणवत्ता वाले टीएमटी बार में सबसे अच्छा विकल्प प्रदान करता है।

अनीश मिश्रा, सीनियर वीपी-सेल्स एंड मार्केटिंग, श्याम मेटैलिक्‍स, ने लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए कहा, “हम क्रांतिकारी मैक्स एआर वैल्यू की विशेषता वाले अत्याधुनिक सेल टाइगर टीएमटी री-बार की पेशकश के साथ कंस्‍ट्रक्‍शन इंडस्‍ट्री में एक महत्‍वपूर्ण बदलाव देखने के लिए तैयार हैं। सेल टाइगर के साथ, श्याम मेटैलिक्‍स ने एक गेम-चेंजर उत्पाद पेश किया है जो न केवल उद्योग की बढ़ती मांगों को पूरा करता है बल्कि राष्ट्रीय प्रगति के लिए हमारी दृढ़ प्रतिबद्धता का भी प्रतीक है। हमारी रणनीतिक योजना में बाज़ार की बढ़ती माँगों को पूरा करने के लिए अपनी उत्पादन क्षमता को बढ़ाना शामिल है।”

यह भी पढ़ें -  कांग्रेसजनों ने राजीव गांधी को अर्पित किए श्रद्धा सुमन।राजीव भवन में प्रतिमा पर किए गए पुष्प अर्पित।

उन्होंने कहा, “हमने सालाना 8,000 से 10,000 मीट्रिक टन (एमटीपीए) की प्रभावशाली रेंज हासिल करने का लक्ष्‍य तय किया है और हमारा दीर्घकालिक स्‍थायी लक्ष्‍य 25 हजार एमटीपीए तक पहुंचना है। इस महत्वाकांक्षी विस्तार का समर्थन करने के लिए, हम चैनल भागीदारों के साथ मूल्यवान साझेदारी करने और असाधारण प्रतिभा के साथ अपनी टीम को विकसित करने के लिए समर्पित हैं।”

यह भी पढ़ें -  उत्तराखण्ड के चारों धामों के अलावा यात्रा मार्गों पर भी श्रद्धालुओं और वाहनों की धारण क्षमता का आंकलन किया जाए- मुख्यमंत्री

राजेश गुप्ता, डीजीएम – सेल्स एंड मार्केटिंग, श्याम मेटैलिक्‍स ने उच्च गुणवत्ता वाली निर्माण सामग्रियां प्रदान करने के लिए कंपनी के अभिनव दृष्टिकोण और समर्पण पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, “अपने पूरे शानदार इतिहास में, श्याम मेटैलिक्‍स ने उद्योग में एक समानार्थी ताकत के रूप में पहचान हासिल करते हुए, उत्कृष्टता को लेकर प्रतिबद्धता को लगातार बरकरार रखा है। शीर्ष स्तरीय उत्पाद और सेवाएँ प्रदान करने की हमारी अटूट लगन हमारी सफलता की आधारशिला है।”

श्याम मेटैलिक्‍स ने भारत के अग्रणी स्टील बार निर्माताओं में से एक के रूप में अपनी स्थिति मजबूती से स्थापित कर ली है। खनिज-से-धातु प्रक्रिया के प्रति अटूट प्रतिबद्धता के साथ, कंपनी ने आयरन पेलेट्स, स्पंज आयरन, स्टील बिलेट्स, टीएमटी बार, संरचनात्मक उत्पादों, वायर रॉड और फेरोअलॉय सहित उच्च गुणवत्ता वाले स्टील उत्पादों के उत्‍पादन और बिक्री में उत्कृष्टता प्राप्त की है। कंपनी की समेकित उत्पादन क्षमता 13 एमटीपीए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page