क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो नैनीताल केंद्र गीत संगीत के माध्यम से लोगों को कर रहा जागरू..

0
Spread the love

भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो, नैनीताल द्वारा आज अल्मोड़ा के भगवती पैलेस होटल के सभागार में कोरोना के संभावित तीसरी लहर और स्वच्छ भारत मिशन के प्रति एक जन -जागरूकता पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत में विभाग के अधिकारी कलाकारों द्वारा स्वागत बंदना गीत गाकर की गई गाया गया जबकि कार्यक्रम के दौरान विभाग की पंजीकृत संस्कृतिक दल “विहान सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था” के कलाकारों द्वारा नृत्य व नाटक के माध्यम से कोरोना से बचाव को लेकर लोगों के बीच संदेश दिया गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर बोलते हुए उत्तराखंड के पूर्व स्वास्थ्य निदेशक डॉ जे सी दुर्गापाल ने लोगों से कोरोना से बचाव के उपायों को अपनाने की अपील की , ताकि संभावित तीसरी लहर से बचा जा सके।

यह भी पढ़ें -  केंद्रीय संचार ब्यूरो नैनीताल के तत्वाधान में मतदाता जन जागरूकता कार्यक्रम


इस अवसर पर वक्ता के रूप में बोलते हुए अल्मोड़ा सरकारी अस्पताल के चिकित्सक डॉ अखिलेश ने कहा कि कहां की कोरोना काल में ब्लैक या वाइट फंगस के मामले उन्हीं में पाए गए जिनमें शुगर और नमी की मात्रा अधिक पाई गई। उन्होंने लोगों से अनावश्यक रूप से भाप नहीं लेने की अपील की। इसके अलावा उन्होंने लोगों के स्वास्थ्य संबंधी कई प्रश्नों का जवाब देते हुए कोरोना पर फैली भ्रांतियों को दूर किया ।

विशिष्ट अतिथि के रुप में बोलते हुए डॉ ललित चंद्र जोशी ‘योगी’ ने कहा कि उन्होंने कोरोना काल में आर्थिक नुकसान का अध्ययन किया और उससे में जो बात उभरकर आई उसमे यह पता चला कि आर्थिक पुनर्जागरण में स्वयं सहायता समूह का ग्रामीण स्तर में काफी महत्व है। इसके साथ-साथ उन्होंने स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने की भी अपील की।

यह भी पढ़ें -  कांग्रेस ने तेज किया प्रचार अभियान।

वहीं इस अवसर पर वक्ता के रूप में बोलते हुए जिला कार्यक्रम अधिकारी पितांबर प्रसाद ने कहा कि कोरोना को लेकर हमारी जागृति और विकसित होनी चाहिए ताकि जो समय-समय पर भ्रांतियां फैलती हैं उसे दूर किया जा सके ।उन्होंने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपायों की भी चर्चा की।

इस अवसर पर वक्ता के रूप में बोलते हुए सामाजिक कार्यकर्ता विनीत विष्ट ने कहा कि कहा कि लॉकडाउन के दौरान उन्होंने रोटी बैंक की स्थापना की और जरूरतमंदों को प्रतिदिन करीब 10 हज़ार जरूरतमंदों को रोटी वितरण किया करते थे ,जिससे भूख से उनकी मौत ना हो ।उन्होंने यह भी कहा कि दूसरी लहर के दौरान उन्होंने 150 लोगों को ऑक्सिजन सिलेंडर वितरित करवाए जिसमें से 140 लोगों की जान बची।

कार्यक्रम के शुरुआत में बोलते हुए भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी राजेश सिन्हा ने कहा कि भारत सरकार की ओर से ग्रामीण व सुदूर इलाकों में कोरोना से बचाव और स्वच्छ भारत मिशन को लेकर जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है । इसी सिलसिले में कल भी अल्मोड़ा के हवालबाग ब्लॉक में एक कार्यक्रम किया गया जिसमें पंचायत प्रमुखों के बीच कोरोना से बचाव को लेकर भारत सरकार की ओर से किए जा रहे संस्थागत मदद की चर्चा की गई। उन्होंने लोगों से कोरोना के संभावित तीसरे लहर से बचाव के लिए सुरक्षात्मक उपाय और समुचित सूचना को ग्रहण करने की आवश्यकता पर बल दिया ।

यह भी पढ़ें -  आम आदमी पार्टी ने उत्तराखंड में कांग्रेस को दिया समर्थन।

कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे जिसमें आशा वर्कर्स भी शामिल थी ।कार्यक्रम के मध्य में कोरोना और स्वच्छ भारत मिशन के आधार पर प्रश्नोत्तरी का आयोजन किया गया जिसमें विजेताओं को पुरस्कार दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page