हस्यारी नाम उत्तराखंड की महिलाओं का अपमान हरीश रावत।

0
Spread the love

देहरादून 30 अक्टूबर।
सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष हरीश रावत ने बीजेपी के मुख्यमंत्री घसियारी योजना पर कटाक्ष किया है हरीश रावत ने कहा कि घसियारी नाम उत्तराखंड के महिलाओं का अपमान है यहां पर महिलाओं को गृहणी देवी के रूप में जाना जाता है लेकिन इस सरकार ने घसियारी नाम किसी काम विशेष को करने वाली महिलाओं के साथ जोड़ दिया साथियों उन्होंने बीजेपी सरकार पर कई आरो लगाएं ।

यह भी पढ़ें -  अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की सोशल मीडिया चेयरमैन और राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कांग्रेस के घोषणा पत्र की गिनाई खूबियां।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने देहरादून के राजीव भवन में एक प्रेसवार्ता करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के आरोपों पर पलटवार किया, उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के नाम नारीशक्ति का अपमान है,राज्य सरकार उन्हें घस्यारी कह रही है। मै सरकार के इस कदम की निंदा करता हूं। इस योजना में उत्तराखंड की नारी शक्ति का अपमान है,

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के दौर पर बोले हरीश रावत उत्तराखंड की नारी शक्ति का अपमान किया गया है घसियारी शब्द पर हरीश रावत ने आपत्ति जताते हुए कहा कि घसियारी शब्द से मां बहनों का अपमान है।
राज्य की जनता इस अपमान का विरोध करेगी। वहीं अमित शाह के हरीश रावत को डिबेट के लिए आमंत्रण पर हरीश रावत बोले किसी भी चैनल या सार्वजनिक स्थल पर अमित शाह के साथ डिबेट के लिए तैयार हूं, अमित शाह पर तर्क-वितर्क पर मैं भारी पडूंगा।

यह भी पढ़ें -  अंकिता, अग्निपथ और उत्तराखंड की अस्मिता पर केंद्रित हो चुका चुनाव : राजीव महर्षि।

नमाज़ पढ़ने के मामले में और डेनिश शराब के मसले पर अमित शाह द्वारा हरीश रावत के लिए दिए बयान पर बोले हरीश अमित शाह वो अधिसूचना दिखाएं जिसमें हमने शुक्रवार की छुट्टी के लिए लिखा साथ ही आज भी डेनिस दिल्ली और उत्तराखंड में बिक रही है यही नही आर्मी कैंटीन में भी डेनिस दी जा रही है। मैंने पालिसी की तहत डेनिस बिकवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page