राजकीय इंटर कॉलेज व बालिका इंटर कॉलेजों का होगा एकीकरण: डॉ. धन सिंह रावत।

0
Spread the love

भारत सरकार के मानकों के अनुरूप होगी डायट की सेवा नियमावली।

अधिकारियों को निर्देश,स्कूलों में  समय पर उपलब्ध करायें पाठ्य पुस्तकें

देहरादून, 23 फरवरी 2024।
सूबे की शिक्षा व्यवस्था में गुणात्मक सुधार के दृष्टिगत विद्यालयी शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने विभागीय उच्च अधिकारियों की बैठक ली। जिसमें राजकीय इंटर कालेज व राजकीय बालिका इंटर कालेजों का एकीकरण एवं डायट नियमावली समेत कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई।

शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने
यमुना कॉलोनी स्थित शासकीय आवास पर विद्यालयी शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली। जिसमें उन्होंने प्रदेश में संचालित डायट संस्थानों की सेवा नियमावली को भारत सरकार के मानकों के अनुरूप बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। साथ ही उन्होंने डायट में तैनात शिक्षकों को उनके मूल विद्यालयों में वापस भेजने को कहा ताकि विद्यालयों में शिक्षण कार्य सुचारू रूप से संचालित हो सके। डॉ रावत ने बताया कि कम छात्र संख्या वाले राजकीय इंटर कालेज व राजकीय बालिका इंटर कॉलेजों का एकीकरण किया जाएगा। इसके लिए विभिन्न जनपदों से कई विद्यालयों के एकीकरण के प्रस्ताव आये हैं, इन प्रस्तावों पर शीघ्र कार्रवाई करने के निर्देश अधिकारियों दे दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे विद्यालयों के एकीकरण के दौरान सेवारत महिला एवं पुरूष संवर्ग के शिक्षकों के संवर्ग विलय को लेकर शिक्षकों कीआम राय ली जाएगी।

यह भी पढ़ें -  डीएम की व्हाट्सएप आईडी हैक, श्रीलंका का निकला हैकर,हैकरो के हौसले बुलंद

विभागीय मंत्री डॉ रावत ने नए शैक्षिक सत्र शुरू होने पहले विद्यालयों में पाठ्य पुस्तकों को समय पर पहुंचाने के निर्देश भी बैठक में दिये। उन्होंने अधिकारियों को इसके लिये ठोस प्लानिंग बनाने और मॉनीटिरिंग करने को कहा। बैठक में अधिकारियों को प्राथमिक, उच्च प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों की व्यवस्थाओं के सुदृढ़ीकरण, अशासकीय विद्यालयों के प्रान्तीयकरण के लिए आये प्रस्तावों पर कार्रवाई करने, 100 विद्यालयों में रोजगारपरक पाठ्यक्रम संचालित करने, डीएलएड नियमावली एवं स्मार्ट क्लास व वर्चुअल क्लास के शीघ्र निर्माण के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें -  उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा में 58 प्रतिशत हुआ मतदान, कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने दिल्ली के सभी मतदाताओं का जताया आभार।मंत्री बोले - 04 जून को देश में एक नया इतिहास बनने जा रहा है।

बैठक में सचिव शिक्षा रविनाथ रमन, महानिदेशक शिक्षा बंशीधर तिवारी, अपर सचिव रंजना राजगुरु, निदेशक प्राथमिक शिक्षा आर.के. उनियाल सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखण्ड के चारों धामों के अलावा यात्रा मार्गों पर भी श्रद्धालुओं और वाहनों की धारण क्षमता का आंकलन किया जाए- मुख्यमंत्री


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page