मानसून के दौरान इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए बीमा सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण क्यों है – राकेश जैन।

0
Spread the love

देहरादून 21 जून 2023।
मानसून के दौरान व्हीकल्स को एक विशेष देखभाल की जरुरत होती है, और इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (EVs) भी इससे अलग नहीं हैं। जहां EV अपनी ग्रीन क्रेडेंशियल्स और चलने में कम लागत लगने के वजह से तेजी से लोकप्रिय हो रही हैं, मानसून के मौसम में सुचारू रूप से चलने के लिए उन्हें उचित रखरखाव की जरुरत होती है। EV मालिकों के लिए, मानसून कई चुनौतियां लेकर आता है। इसलिए, बारिश के महीनों में EV की विश्वसनीयता और प्रदर्शन को सुनिश्चित करने के लिए संभावित जोखिमों को समझना और आवश्यक सावधानी बरतना बहुत जरुरी है। यदि आप एक EV के मालिक हैं, तो आपको इन बातों पर ध्यान देना चाहिए:

इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लिए मानसून आने से पहले की तैयारी

मानसून के आने से पहले, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि एक अधिकृत वर्कशॉप व्हीकल की बैटरी या मोटर केसिंग को हुए किसी भी तरह के नुकसान के लिए उसकी जाँच करे। बाढ़/वर्षा के पानी को इसके अंदर जाने से रोकने के लिए बाहरी केस में किसी भी प्रकार की छोटी सी भी दरार का ध्यान रखा जाना चाहिए, जो अन्यथा सही ना हो पाने वाली क्षति का कारण बन सकता है। यदि व्हीकल के इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर पर कोई चेतावनी संकेत दिखाई दे रहा हैं, तो सुनिश्चित करें कि किसी भी बड़े संभावित नुकसान से बचने के लिए वर्कशॉप द्वारा इसकी जाँच की जाए।

मानसून के लिए चार्जिंग और रखरखाव के लिए सुझाव

मानसून के दौरान EV बैटरी को चार्ज करने में भी अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। यदि बारिश होने के दौरान आपको अपने EV को चार्ज करने की आवश्यकता होती है, तो एक अच्छी तरह से ढके हुए और सूखे क्षेत्र में ऐसा करना सुनिश्चित करना चाहिए। चार्ज करने के लिए अपने EV को प्लग करने से पहले, शॉर्ट सर्किट से बचने के लिए सबसे अच्छा तरीका यह है कि इसके चार्जिंग पिन और पोर्ट को अच्छी तरह से देखकर जांचा जाए कि वे सूखे हैं या नहीं। आपको मानसून के दौरान चार्जिंग केबल और कार के प्लास्टिक के पुर्जों पर भी ध्यान देना चाहिए की कही उन्हें चूहे ने काटा तो नहीं है। क्षतिग्रस्त केबलों से चार्ज करने से शॉर्ट सर्किट हो सकता है और बैटरी को बहुत बड़ा और महंगा नुकसान हो सकता है। यह ध्यान में रखना जरुरी है कि उच्च-वोल्टेज ली-आयन EV बैटरी की मरम्मत नहीं की जा सकती है और किसी भी भौतिक क्षति के मामले में इसकी पूरी असेंबली को बदलने की आवश्यकता होती है।

यह भी पढ़ें -  सादतपुर वार्ड और श्री राम कॉलोनी मंडल के करावल नगर विधानसभा के तुकमीरपुर, चांदबाग, यमुना विहार आयोजित जनसभा को कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने किया संबोधित।

अपने पार्किंग क्षेत्र के आसपास किसी भी चूहे, गिलहरी आदि कतरने वाले जानवर के संक्रमण से बचाने के लिए, अपने EV में खुले तारों पर चूहे भगाने वाले स्प्रे का उपयोग करें, चूहों को दूर भगाने वाले अल्ट्रासोनिक रैट रिपेलेंट्स लगाएं, और कई स्थानों पर वायरिंग हार्नेस से बांधकर चूहे रिपेलेंट किट का उपयोग करें।

मानसून के दौरान ड्राइविंग सावधानियां

मानसून के दौरान, गड्ढों या जलभराव वाली सड़कों पर वाहन चलाने और निचले इलाकों में पार्किंग करने से बचें। यह इलेक्ट्रिकल पार्ट्स को संभावित नुकसान से बचाने और बैटरी को नमी के संपर्क में आने से रोकने में मदद करेगा। इस बात का ध्यान रखें कि लंबे समय तक बार-बार लो बैटरी चार्ज पर EV को ड्राइव न करें, क्योंकि इससे बैटरी की सेल की कंडीशन खराब हो सकती है और आपको असहाय छोड़ सकती हैं। यदि EV में पानी भर जाता है, तो संभावना है कि पानी बैटरी असेंबली के अंदर भी चला गया होगा। ऐसे मामले में, यदि व्हीकल का इग्निशन चालू है, तो यह सिस्टम में इलेक्ट्रिक फाल्ट पैदा कर सकता है। ऐसी स्थितियों में, आगे के निरीक्षण के लिए व्हीकल को किसी अधिकृत वर्कशॉप में खींच कर ले जाना सबसे अच्छा होता है।

यह भी पढ़ें -  NEWSBig breaking :-पूर्व विधायक मुख्यमंत्री के लिए अपनी सीट छोड़ने वाले और वन विकास निगम के अध्यक्ष कैलाश गहतोड़ी का हुआ निधन, बीजेपी में शोक की लहर

आपकी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की सुरक्षा को बढ़ाने के तरीके

EV के लिए मोटर बीमा जरुरी है, न केवल मानसून के दौरान बल्कि पूरे साल सुरक्षा के लिए भी। व्यापक मोटर बीमा होने से तीसरी पार्टी, खुद को हुए नुकसान और यहां तक कि व्यक्तिगत दुर्घटनाओं के लिए भी कवरेज को प्राप्त किया जा सकता है। मोटर बीमा का तृतीय- पार्टी कंपोनेंट किसी ट्रैफ़िक दुर्घटना, EV बैटरी में आग लगने, या अन्य कारणों से किसी तीसरी पार्टी के शारीरिक/मृत्यु या संपत्ति के नुकसान की स्थिति में आपको आर्थिक रूप से कवर कर सकता है। ओन डैमेज कंपोनेंट आपके वाहन को टक्कर, बाढ़ और किसी भी अन्य बाहरी कारकों से होने वाले नुकसान से बचाता है। व्यक्तिगत दुर्घटना कवर बीमाकृत वाहन के संबंध में किसी दुर्घटना के कारण हुई शारीरिक चोटों, मृत्यु, या किसी स्थायी विकलांगता के लिए आपको (मालिक/चालक) को मुआवजा प्रदान करेगा।

निल डेप्रिसिएशन कवर, रिटर्न टू इनवॉइस कवर, और कंज्यूमेबल्स प्रोटेक्शन कवर जैसे ऐड-ऑन कवर का चयन करें, जो आपकी EV के लिए अतिरिक्त सुरक्षा और मन को पूर्ण शांति देता है। निल डेप्रिसिएशन कवर डेप्रिसिएशन राशि में कटौती किए बिना पूरी रिप्लेसमेंट राशि की प्रतिपूर्ति करता है। रिटर्न टू इनवॉइस कवर कार मालिकों को वाहन के पूर्ण नुकसान के लिए वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है और कार की ऑन-रोड कीमत को क्लेम करने में मदद करता है। और कंज्यूमेबल्स प्रोटेक्शन ऐड-ऑन इंजन ऑयल, ब्रेक फ्लुइड, नट, बोल्ट आदि जैसे उन पार्ट्स की लागत को कवर करता है जिन्हें अत्यधिक उपयोग के कारण बदलने की जरुरत पड़ सकती है।

यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री ने स्वर्ण मंदिर में टेका माथा।

EV के लिए कुछ विशेष ऐड-ऑन सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत प्रदान कर सकते हैं। कई जोखिम कारक, उदाहरण के लिए – बिजली का बढ़ना-घटना, द्रव का अंदर जाना आदि जो बैटरी और/या इलेक्ट्रिक मोटर को नुकसान पहुंचा सकते हैं, एक व्यापक कवर द्वारा कवर नहीं किए जाते हैं। साथ ही, EV चार्जर असेंबली को किसी भी प्रकार की एक्सीडेंटल डैमेज से सुरक्षा की आवश्यकता हो सकती है। EV विशिष्ट ऐड-ऑन का विकल्प जैसे EV चार्जर कवर और EV बैटरी कवर आपको इस तरह के नुकसान से बचाता है।

एक व्यापक बीमा कवर और उपयोगी ऐड-ऑन के जरिए सुरक्षा को सुनिश्चित करना, आपको अपनी जेब पर पड़ने वाले भारी बोझ से बचाएगा, विशेष रूप से मानसून के समय, क्योंकि EV को होने वाला कोई भी नुकसान आपको महंगा पड़ सकता है।

एक EV मालिक के रूप में, आपको नुकसान या दुर्घटना के जोखिम को कम करने के लिए मानसून के दौरान सभी आवश्यक सावधानियां को बरतना चाहिए। इन स्टेप्स का पालन करने से आपके इलेक्ट्रिक वाहन के साथ एक सुरक्षित और परेशानी मुक्त अनुभव सुनिश्चित किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page