राज्य सरकार ने 3 लाख कोविड वैक्सीन बूस्टर डोज की केंद्र से की डिमांड

0
Spread the love

शैलेन्द्र कुमार पाण्डेय।
देहरादून 24 दिसंबर 2022।
राजकीय मेडिकल कॉलेज दून के बाद प्रदेश सरकार जल्द ही 3 और मेडिकल कॉलेजों में भी संक्रमित सिंपलों की जीनोम सिक्वेंस लैब स्थापित करेगी । इसके लिए इंटरनेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल दिल्ली से पंजीकरण की अनुमति मांगी है। इसके अलावा बूस्टर डोज लगाने के लिए केंद्र सरकार से 3 लाख covid वैक्सीन मांगी गई है।

यह भी पढ़ें -  आम आदमी पार्टी ने उत्तराखंड में कांग्रेस को दिया समर्थन।
डॉ आर राजेश कुमार, स्वास्थ्य सचिव

स्वास्थ्य सचिव डॉ राजेश कुमार ने कहा है कि एयरपोर्ट और राज्य की सीमाओं पर बाहर से आने वाले लोगों की covid जांच के कोई आदेश नहीं दिए गए हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि covid संक्रमण रोकथाम के लिए सरकार की ओर से जारी दिशानिर्देशों को लेकर अफवाह ना फैलाएं।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में 2009 के इतिहास की होगी पुनरावृत्ति : राजीव महर्षि।

सचिव ने कहा कि सोशल मीडिया पर भ्रामक प्रचार किया जा रहा है कि उत्तराखंड में पर्यटकों का rt-pcr टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है। जबकि ऐसा कोई दिशानिर्देश जारी नहीं किया गया है। राज्य में आने वाले यात्रियों के लिए वर्तमान में covid जांच की कोई बाध्यता नहीं है। हालांकि लक्षण होने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में संपर्क किया जाना आवश्यक है।

यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री ने किया 55 करोड़ 53 लाख रूपये की लागत से निर्मित होने वाले चम्पावत साइंस सिटी का भूमि पूजन एवं शिलान्यास।विज्ञान केंद्र आदर्श चंपावत के विकास में मील का पत्थर साबित होगा : मुख्यमंत्री।

यदि किसी को संदेश लक्षण है तो covid जांच कराएं उन्होंने कहा कि संक्रमण से बचाव के लिए कोविड के अनुरूप व्यवहार और सतर्कता जरूरी है। भीड़ वाले स्थानों पर स्वास्थ्य विभाग व स्थानीय प्रशासन की टीम ने लोगों को मास्क पहनने के लिए जागरूक करने का अभियान चला रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page