हरिद्वार कुंभ मैं कोरोना जांच के नाम पर करोड़ों का फर्जीवाड़ा करने वाले आरोपियों पर पुलिस ने कसा शिकंजा

0
Spread the love

हरिद्वार कुंभ मेला-2021 में कोरोना जांच के नाम पर करोड़ों रुपए का घोटाला करने वाले आरोपियों के विरुद्ध पुलिस ने कानूनी शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। लंबे समय से फरार चल रहे हैं आरोपियों के खिलाफ कोर्ट से आदेश मिलने के बाद कुर्की की कार्रवाई कर करते हुए फरार आरोपियों के घर एसआईटी टीम ने पहुंचकर नोटिस चस्पा कर ढोल बजाकर मुनादी कराई। पुलिस का कहना है फरार आरोपियों ने आत्मसमर्पण नहीं किया तो 83 की कार्रवाई करते हुए कुर्की कार्रवाई की जाएगी। एसआईटी की टीम घोटाले में एक गिरफ्तारी कर चुकी है।

बताते चलें कि कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की कोरोना जांच के लिए कुंभ मेला प्रशासन की ओर से प्राइवेट एजेंसी को काम दिया गया था। कुंभ मेला समाप्ति के बाद कोरोना जांच में करोड़ों का घोटाला सामने आया। तत्कालीन जिलाधिकारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए निष्पक्ष जांच कराने के लिए कमेटी का गठन किया था। जिसमें सीएमओ, हरिद्वार की ओर से नगर कोतवाली हरिद्वार में जांच एजेंसी समेत तीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। तत्कालीन एसएसपी ने निष्पक्ष जांच के लिए एसआईटी का गठन कर जांच शुरू की गई। मुकदमे में नामजद प्राइवेट एजेंसी के मालिक व लैब संचालकों ने नैनीताल हाईकोर्ट से गिरफ्तारी पर स्टे प्राप्त कर लिया था। स्टे अवधि होने के बाद पुलिस ने कोविड-19 जांच घोटाले की जांच करते हुए राजस्थान की एक प्राइवेट लैब संचालक को गिरफ्तार कर पूछताछ करने के बाद जेल भेज दिया था।

यह भी पढ़ें -  टिहरी लोक सभा क्षेत्र के लिए बनाए गए महाराणा स्पोर्ट्स स्टेडियम स्थित मतगणना स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे कांग्रेस नेता।

मुकदमे में नामजद प्राइवेट जांच एजेंसी के मालिक शरद पंत व उनकी पत्नी मल्लिका पंत हिसार हरियाणा की लैब संचालक नवतेज नलवा तभी से फरार चल रहे हैं। एसआईटी टीम फरार आरोपियों की तलाश में अलग-अलग शहरों में तलाश कर चुकी है, पर फरार आरोपी पुलिस टीम की गिरफ्त में नहीं आ पाए।

यह भी पढ़ें -  राजीव महर्षि ने कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में की मार्मिक अपील।

कुंभ कोरोना जांच घोटाले में फरार चल रहे नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने शिकंजा करते हुए न्यायालय से कुर्की की कार्रवाई के तहत प्रार्थना पत्र देकर 82 के आदेश प्राप्त होने के बाद फरार आरोपियों के घर जाकर नोटिस चस्पा कर मुनादी कराई। नोएडा स्थित प्राइवेट एजेंसी के स्वामी शरद पंत पुत्र हरीश पंत मल्लिका पंत पत्नी शरद पंत के घर एसआईटी टीम में शामिल एसआई जसवंत खत्री नेट सहयोगी कर्मियों के साथ नोटिस चस्पा कर मुनादी कराने की वीडियोग्राफी करवाई गई। नामजद नवतेज नलवा पुत्र एसपी नलवा निवासी हिसार हरियाणा के घर भी चस्पा नोटिस कर मुनादी कराई। एसआईटी टीम ने फरार आरोपियों के विरुद्ध कुर्की की कार्रवाई शुरू कर दी है। 82 कार्रवाई के बाद अवधि पूरी होने पर कोर्ट से 83 के आदेश लेने के बाद कुर्की की कार्रवाई की जाएगी। कॉविड जांच के नाम पर फर्जी मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page