जिलाधिकारी ने अपने कार्य के प्रति लापरवाही बरतने वाले अधिकारी व कर्मचारियों के वेतन रोकने के लिए निर्देश

0
Spread the love

जिलाधिकारी ने अपने कार्य के प्रति लापरवाही बरतने वाले अधिकारी व कर्मचारियों के वेतन रोकने के लिए निर्देश

जिलाधिकारी ने शहर में नियमित फॉगिंग व घर-घर जाकर डेंगू की पुष्टि करने के दिए निर्देश

कोटद्वार – जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने आज बेस चिकित्सालय कोटद्वार का निरीक्षण व संबंधित अधिकारियों के साथ डेंगू की रोकथाम हेतु बैठक की। उन्होंने वहां डेंगू वार्ड, जनरल वार्ड सहित अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने प्रमुख स्वास्थ्य अधीक्षक को अस्पताल में नियमित रूप से साफ-सफाई रखने के निर्देश दिए।


जिलाधिकारी ने डेंगू वार्ड का निरीक्षण करते हुए वहां सभी व्यवस्थाएं सही पाए जाने पर संतुष्टि व्यक्त की। उन्होंने एक ही डॉक्टर की ड्यूटी 02 जगह लगाने पर मुख्य चिकित्साधिकारी का कारण बताओ नोटिस जारी किया। साथ ही जिलाधिकारी ने डेंगू नियंत्रण अभियान के नोडल अधिकारी के द्वारा अपने कार्य के प्रति लापरवाही बरते जाने पर 02 दिन का वेतन आहरण न किये जाने के साथ ही कारण बताओ नोटिस जारी किया। वहीं ब्लॉक कार्डिनेटर व सफाई निरीक्षक द्वारा अपने-अपने कार्य के प्रति लापरवाही बरतने पर जिलाधिकारी ने संबंधी अधिकारी को वेतन रोकने और पर्यावरण पर्यवेक्षक नगर निगम द्वारा सफाई कार्य, फॉगिंग सहित अन्य कार्य में लापरवाही बरतने पर स्पष्टीकरण तलब किया।

यह भी पढ़ें -  टिहरी लोक सभा क्षेत्र के लिए बनाए गए महाराणा स्पोर्ट्स स्टेडियम स्थित मतगणना स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे कांग्रेस नेता।


जिलाधिकारी ने डेंगू की रोकथाम व लगातार निगरानी बनाए रखने के लिए कंट्रोल रूम स्थापित कर उसमें इन्चार्ज अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, नोडल सहायक नगर आयुक्त व सफाई निरीक्षक को शामिल करते हुए निरंतर रूप से मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि डेंगू के केस आने पर कान्टैक्ट ट्रैकिंग टीम बनाये, जिसमें पुलिस विभाग, चिकित्सा विभाग एवं नगर निगम के कर्मचारी की तैनाती करें। उन्होंने प्रमुख चिकित्साधीक्षक कोटद्वार को डेंगू की रोकथाम के मध्यनजर कोटद्वार स्थित प्राईवेट अस्पतालों के डॉक्टर एवं आशा कार्यकत्री की बैठक करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने डेंगू की रोकथाम के लिए किए जा रहें कार्यों की प्रगति व निगरानी हेतु वॉट्सअप ग्रुप बनाने को कहा l

यह भी पढ़ें -  डीएम की व्हाट्सएप आईडी हैक, श्रीलंका का निकला हैकर,हैकरो के हौसले बुलंद


इस दौरान प्रमुख चिकित्साधीक्षक द्वारा अस्पताल में 06 वार्ड बॉय, 06 नर्स, 03 डाटा एन्ट्री ऑपरेटर व 01 एम्बुलेंस की मांग की गई। जिस पर जिलाधिकारी ने मांग पत्र भेजने के लिए निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें -  महंगाई से त्रस्त उपभोक्ताओं को भाजपा सरकार देने लगी झटका।


जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को नियमित रूप से शहर में फॉगिंग करने के साथ ही घर-घर जाकर डेंगू की पुष्टि करने के निर्देश दिए। उन्होंने डेंगू की रोकथाम हेतु लोगों को जागरूक करने के लिए प्रचार प्रसार करने के निर्देश भी दिए। इस दौरान उन्होंने डेंगू कंटेनमेंट जोन बनाए गए गिवईस्त्रोत क्षेत्र का निरीक्षण भी किया।
निरीक्षण के दौरान नगर आयुक्त कोटद्वार वैभव गुप्ता, उप जिलाधिकारी सोहन सिंह साहित अन्य स्वास्थ्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page