विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूडी भूषण पी 20 शिखर सम्मेलन में हुई शामिल।

0
Spread the love

नई दिल्ली 13 अक्टूबर 2023 ।

“पीएम मोदी ने पी20 शिखर सम्मेलन का उद्घाटन किया ,जी20 देशों के संसद अध्यक्ष कार्यक्रम में शामिल “

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी आज यशोभूमि में 9वें G20 संसदीय अध्यक्ष शिखर सम्मेलन (P20) का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूडी भूषण ने भी पी 20 शिखर सम्मेलन में शामिल हुई।
विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूडी भूषण के साथ उत्तरप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना सहित अन्य राज्यों के विधानसभा अध्यक्षों ने सम्मेलन में प्रतिभाग किया।

यह भी पढ़ें -  शिक्षा विभाग में शैक्षणिक संवर्ग का होगा त्रिस्तरीय ढांचाः डॉ. धन सिंह रावत।

आयोजन का विषय “एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य के लिए संसद” है जो पिछले महीने दिल्ली में आयोजित जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान देश के आदर्श वाक्य के अनुरूप है।

सम्मेलन के उद्घाटन के अवसर पर पीएम मोदी ने कहा है कि भारत ने जी-20 का शिखर सम्मेलन का सफलतापूर्व आयोजन किया. आगे उन्होंने कहा कि समय के साथ भारत की संसदीय प्रक्रिया में सुधार हुआ है. आगे उन्होंने यह भी कहा कि हमारे ग्रंथों में सभाओं का जिक्र किया हुआ है. पीएम मोदी ने यहां अपने संबोधन के दौरान भारत को लोकतंत्र की जननी बताया है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में पहली बार मिस एंड मिसेज इंडिया दिवा उत्तराखंड -2024 का होगा आयोजन।सितम्बर में होगा ग्रैंड फिनाले।

इस दौरान लोकसभा अध्यक्ष ने कहा की P20 भारत लोकतांत्रिक मूल्यों, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और वैश्विक महत्व के मुद्दों के समाधान के लिए संयुक्त संसदीय प्रयासों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। भारत की अध्यक्षता ने #G20 को एक समावेशी, महत्वाकांक्षी, भविष्योन्मुख, निर्णायक और मानव-केंद्रित दृष्टिकोण दिया है।

P20 शिखर सम्मेलन में कौन-कौन शामिल हो रहे हैं।

इस कार्यक्रम में G20 सदस्यों और आमंत्रित देशों की संसदों के अध्यक्ष भाग ले रहें है। 9 और 10 सितंबर को नई दिल्ली जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में अफ्रीकी संघ के जी20 का सदस्य बनने के बाद पैन-अफ्रीकी संसद पहली बार पी20 शिखर सम्मेलन में भाग ले रहीं है।

यह भी पढ़ें -  कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने देहरादून के डोभाल चौक में हुए दीपक बडोला ऊर्फ रवि हत्याकांड के पीड़ित परिवारजनों से की भेंट।

इस P20 शिखर सम्मेलन के दौरान विषयगत सत्र निम्नलिखित चार विषयों पर केंद्रित होंगे – सार्वजनिक डिजिटल प्लेटफार्मों के माध्यम से लोगों के जीवन में परिवर्तन; महिलाओं के नेतृत्व वाला विकास; एसडीजी में तेजी लाना; और सतत ऊर्जा संक्रमण।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page