एक बुजुर्ग माँ न्याय के लिए पहुचीं कोटद्वार कोतवाली।

0
Spread the love

कोटद्वार। जिन बेटों को बुढ़ापे की लाठी समझकर माँ ने विभिन्न चुनौतियों का सामना करते हुए पाला और खुद से ज्यादा प्यार दिया.. वही बेटे सहारा तो दूर, अपने बुजुर्ग मां के लिए जानी दुश्मन बने हुए हैं..इतना ही नहीं बल्कि अपनी पत्नियों के साथ मिलकर उन्हें घर से बाहर निकाल दिया.. यह बुजुर्ग दंपति अपने बेटे से न्याय दिलाने की गुहार लिए भटकने को मजबूर हैं.

यह भी पढ़ें -  कांग्रेस ने तेज किया प्रचार अभियान।


अपने पांच बेटों के खिलाफ आज एक माँ कोटद्वार कोतवाली में न्याय के लिए पहुँची.. ओर थाना प्रभारी को अपनी सारी परेशानियों बताई साथ ही न्याय की गुहार भी लगाई.. वही बुजुर्ग महिला का कहना है कि मेरे पांच बेटे है मेरे पांचो बच्चे मुझे नही रखते हैं न ही खर्चा देते हैं, जिससे मुझे जीवन यापन करने में बहुत समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है…

यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री ने डीडीहाट में जनसभा कर भाजपा प्रत्याशी अजय टम्टा के समर्थन में की जनसभा।

बताते चलें कि कोटद्वार के आर्मी कैंटीन के निकट रहने वाली एक बुजुर्ग महिला ने मजबूर होकर अपने बेटों के खिलाफ थाने में तहरीर दी और कहा कि किराए के कमरे में रहती थी कुछ समय से अपने बेटे विजेंद्र के पास रहती हूँ ओर चार बेटे मुझे अपने साथ नही रखना चाहते मेरे पास आय का कोई साधन भी नही है जिससे मैं अपना भरण पोषण कर सकूं। वही थाना प्रभारी विजय सिंह ने आश्वसन देते हुए कहा कि प्रार्थना पत्र में जो नाम दिए हैं उन सभी को थाने बुलाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page