झूठी बयान बाजी करने वाले कांग्रेस प्रत्याशी एक बार सरकारी आंकड़े ही देख लेते, तो आज फजीहत नहीं होती..अजय भट्ट

0

Oplus_131072

Spread the love

झूठी बयान बाजी करने वाले कांग्रेस प्रत्याशी एक बार सरकारी आंकड़े ही देख लेते, तो आज फजीहत नहीं होती..अजय भट्ट

हल्द्वानी – केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि कांग्रेस को झूठ बोलकर जनता को गुमराह करने की आदत अभी गई नहीं, इसका ताजा उदाहरण ही देख लो कांग्रेस प्रत्याशी प्रकाश जोशी हैं, जो जगह-जगह जनता को झूठ बोलकर गुमराह कर रहे हैं कि सांसद निधि खर्च नहीं हुई जबकि उनका इससे बड़ा झूठा कोई नहीं है..

यह बात बोलने से पहले काम से कम प्रकाश जोशी सरकारी आंकड़े ही देख लेते.. दरअसल 17वीं लोकसभा यानी 2019 से 2024 तक उन्हें 499 कार्यों के लिए 1672.43 लाख की सांसद निधि प्राप्त हुई और उनके द्वारा सभी विकास कार्यों के 493 कार्यों की 1657.57 लाख रुपए जिलाधिकारी के स्तर से स्वीकृत करते हुए दे दिए गए। पर कांग्रेस प्रत्याशी को यह कौन समझाए कि अब समय नहीं है जब झूठ बोलकर जनता को गुमराह किया जा सकता है,

यह भी पढ़ें -  राज्य स्तरीय बॉक्सिंग चैंपियनशिप में प्रथम स्थान प्राप्त कर खिलाड़ियों के कोटद्वार पहुँचने के उपरांत विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूडी भूषण ने दल के सभी 15 बॉक्सर्स एवं उनके कोच का राजकीय स्पोर्ट्स स्टेडियम कोटद्वार में किया सम्मानित।

अब सब कुछ ऑनलाइन है एक क्लिक में या एक आरटीआई में सारी जानकारी आपके हाथ में होगी, लेकिन वह कांग्रेस की परंपरागत नीति झूठ बोलकर गुमराह करने को यहां भी आजमा रहे हैं जबकि जनता सब समझ चुकी है। श्री भट्ट ने कहा कि कांग्रेस हताश और निराश है इसलिए ऐसे पैंतरे चल रही है। जबकि संसदीय क्षेत्र की देवतुल्य जनता यह जानती है कि कोरोना के समय उनके साथ कौन खड़ा था। कौन ऑक्सीजन सिलेंडर की पूर्ति कर रहा था। किसने अपनी पूरी सांसद निधि कॉविड-19 के दौर में स्वास्थ्य सेवाओं के उपकरण के लिए दी।

यह भी पढ़ें -  नाबार्ड के स्थापना दिवस कार्यक्रम का कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने किया शुभारंभ

चुनाव से 2 दिन पहले पैराशूट प्रत्याशी बनकर आए प्रकाश जोशी को यह समझना चाहिए कि जिस तरह वह हवा में यहां पहुंचे हैं इस तरह की हवाई बातें करने से कुछ नहीं होगा। जनता के बीच में हर सुख दुख में खड़ा होना होता है लेकिन संसदीय क्षेत्र की जनता भली भांति जानती है कि कांग्रेस प्रत्याशी फिर करारी हार का मुंह देकर वापस चले जाएंगे। और उन्हें यही जनता के बीच रहकर सेवा करनी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page